Friday, 2 October 2009

छात्रों के बीच मनाई गांधी-शास्त्री जयंती

'मीरा' ने गांधी व शास्त्री जयंती के उपलक्ष्य मे गरीब तबके के लोगों को फल-खाद्य साम्रगी बांटी। इसी कड़ी में पुरानी आबादी स्थित महामना मालवीय शिक्षा सदन उ.प्रा.विद्यालय में भाषण प्रतियोगिता भी आयोजित की गई और विजेताओं को पारितोषिक वितरण किया गया। इस अवसर पर बोलते हुए संस्था कोषाध्यक्ष विजेन्द्र शर्मा ने कहा कि राष्ट्रपिता गांधी लडाई-झगड़े में विEास नहीं रखते थे। उनका सादगीपूर्ण जीवन था ओर वे अंहिसा के रास्ते पर चलकर अपनी सभी मांगें मनवा लेते थे। दूसरी ओर शास्त्री जी गरीब तबके से उठकर अपनी योग्यता और लगन से सर्वोच्च पद पर आसीन हुए। उन्होंने जय जवान जय किसान का नारा देकर विकट खाद्य समस्या एवं युद्ध के समय भारत को विजयश्री दिलाई। कार्यक्रम में मीरा शर्मा, होशियारसिंह, डॉ. लालचंद नोखवाल, प्राचार्य श्रवणसिंह गिल, फूसाराम घोडे़ला, लक्ष्मीकांत शर्मा आदि ने भी अपने विचार रखें।

3 comments:

~~rishu~~ said...

दोस्त आपकी प्रतिक्रिया पढ़ी अपनी रचना पर....आश्चर्य हुआ जानकर की मेरी रचना ही मेरी नहीं है !..यह रचना पुर्णतः मेरी लिखी हुई है अतः यदि आपको किसी प्रकार का संदेह है तो कृपया आप ही बताये की किसने और कब लिखी ..मै इसे कई सम्मेलनों में पढ़ चुका हूँ पर इस प्रकार का आरोप मुझपर पहली बार लगा है !...आपके उत्तर की प्रतीक्षा रहेगी .

Sonal said...

u have a nice blog ...

Pls Visit My Blog and Share ur Comments....
http://bannedarea.blogspot.com


You can Read here : Celebrity News, Hollywood News,

Bollywood News, Technology News,

Health News
, India News, World News,

Cricket News, Sports News, Fashion News,

Television News, Gossips, Automobile News,

Breaking News, Games News,

Mobile News, & Latest News

आशा जोगळेकर said...

बढिया उपक्रम।